श्री सिद्ध चक्र महामंडल विधान
मुक्तागिरी से मुक्त हुवे साडे तीन करोड मुनिराज ऐसे परमपावन सिद्धक्षेत्र पर आचार्य भगवान विद्यासागर महाराज जी का तपोस्थली मे उनकी सुशिष्या परमपूजनीय आर्यिका रत्न श्री 105 श्री तपोमतीं माताजी एवं 105 श्री अपूर्वमति माताजी ससंघ सनिध्यमे मुक्तागिरी क्षेत्र क्षेत्र पर सिद्धोकी आराधना के साथ भव्यतिभव्य श्री सिद्धचक्र महामंडल विधान दिनांक ९ जनवरी २०१९ से १६ जन २०१९ तक होने जा रहा है.

आप सभी साधर्मी इस महा मांगलिक विधान मे भक्ती के साथ सिद्धोकी की आराधना करने हेतू साडेतिन करोड मुनीयो की तपस्थली मुक्तागिरी मे पधारकर धर्मलाभ लेकर पुण्यर्चन करे.

सानिध्य
(आचार्य विद्यासागर संघस्थ )
१. ब्र. अनुप भैय्या विदित हा
२. ब्र.संदीप भैय्या अमरावती
३. ब्र.अमोल भैया पुसद
४. ब्र.सोनू भैय्या कारंजा एवम ब्रह्मचारिणीगण

टीप : विधान पाऊस शुद्ध ३ वार बुधवार ९/१/२०१९ से पौष शुद्धी १० बुधवार
आवास एवम भोजन की समुचित व्यवस्था क्षेत्र पर है।

सकल जैन समाज एवं ट्रस्टी गण मुक्तागिरी।

आर्यिका 105 श्री तपोमती माताजी

आर्यिका 105 श्री सिद्धांतमती माताजी
आर्यिका 105 श्री नम्रमति माताजी
आर्यिका 105 श्री विनम्रमति माताजी
आर्यिका 105 श्री अतुलमति माताजी
आर्यिका 105 श्री अनुगतमति माताजी
आर्यिका 105 श्री उचितमाति माताजी
आर्यिका 105 श्री विनयमति माताजी
आर्यिका 105 श्री संगतमाति माताजी
आर्यिका 105 श्री लक्ष्यूमति माताजी
आर्यिका 105 श्री अनुत्तरमाति माताजी
आर्यिका 105 श्री आगाधमति माताजी